Southwest monsoon advances over entire Maharashtra (including Mumbai), parts of south Gujarat and some more parts of central & East India

According to the National Weather Forecasting Centre/Regiona lMeteorology Centre, New Delhiof the India Meteorological Department:

Advance of Southwest Monsoon till 14th June, 2020

  • The Southwest Monsoon has further advanced into remaining parts of Central Arabian Sea,some parts of northeast Arabian Sea, Gujarat state, Dadra & Nagar Haveli, remaining partsof Maharashtra (including Mumbai), some parts of Madhya Pradesh, most parts ofChhattisgarh and Jharkhand and some more parts of Bihar.
  • The Northern Limit of Monsoon (NLM) now passes through Lat.20°N/Long.60°E,Lat.20°N/Long.70°E, Surat, Nandurbar, Betul, Seoni, Pendra Road, Ambikapur, Gaya,Patna and Lat.27°N/Long.85°E (Annexure I).
  • The Chief amount of rainfall (in cm) more realized past during 24-hours till 0830 IST of14th June 2020 (>5cm):

Gujarat: Madhbun (Dadara & Nagar Haveli)-9, Abad City (Ahmedabad)-7, Dahegam(Gandhinagar)-7, Nanipalson (Valsad)-7, Gandhinagar (Gandhinagar)-6, Talod(Sabarkantha)-6, Khanvel (Dadara & Nagar Haveli)-6, Kaprada (Valsad)-5, Malpur (Aravalli)-5, Nakhatrana (Kutch)- 5 cm

Maharashtra: Mumbai(Colaba)-1, Mumbai (Santacruz)-2, Pernem (North Goa)-12,Mokheda (Palghar)- 12, Matheran (Raigad)- 8, Malvan (Sindhudurg)- 7, Ulhasnagar(Thane)- 11, Amalner (Jalgaon)- 6, Shahada (Nandurbar)- 7, Igatpuri (Nashik)- 7, Ashti

(Beed)- 5 and Aundha Nagnath (Hingoli)- 7

Southwest Monsoon till 14th June 2020:

For the country as a whole, Seasonal cumulative rainfall during this year’s southwest

monsoon till 14th June 2020 is above Long Period Average (LPA) by 31%. It is 19%,

94% & 20% above their LPA over northwest, central & south peninsular Indiarespectively. Details of the rainfall distribution over the four broad geographical regionsof India are given below (Annexure II):

Regions        ActualRainfall(mm)NormalRainfall(mm)%Departure fromLPA

 

Country as a whole 75.8                           57.8                                       31%

Northwest India 27.2                                 22.8                                        19%

Central India 91.0                           46.9                                        94%

South Peninsula 80.2                                66.9                                        20%

East & northeast India 131.8                   137.4                                      -4%

 

Meteorological Conditions

  • A trough runs from northwest Rajasthan to coastal Odisha at lower tropospheric levels.
  •  An east-west shear zone runs along Lat.22°N across Central India between 3.1 and 4.5 kmabove mean sea level.
  •  A cyclonic circulation lies over East Madhya Pradesh & neighbourhood at mid-troposphericlevels.

Forecast & warnings

  • Under the influence of above systems, conditions are becoming favourable for furtheradvance of Southwest Monsoon into some more parts of North Arabian Sea, Gujaratand Madhya Pradesh, remaining parts of Chhattisgarh, Jharkhand and Bihar andsome parts of East Uttar Pradesh during next 48 hours.
  •  Fairly widespread to widespread rainfall very likely to continue over Maharashtra, Gujarat,most parts of central and east India during next 4-5 days with isolated heavy to veryheavy falls over Konkan & Goa, Madhya Maharashtra, Gujarat and isolated heavy oversouth Madhya Pradesh, Vidarbha, Chhattisgarh and Marathwada during next 2-3 days.

For further details and forecast updates kindly visit websites of IMD, New Delhi:

http://www.imd.gov.in/pages/allindiawxfcbulletin.php
Annexure I

Annexure II


NB/KGS
Hindi

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून, पूरे महाराष्ट्र (मुंबई सहित), दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्सों और मध्य एवं पूर्व भारत के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ा

 

भारत मौसम विज्ञान विभाग के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र/क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, नई दिल्ली के अनुसार:

14 जून2020 तक दक्षिण-पश्चिम मानसून की प्रगति

  • दक्षिण-पश्चिम मानसून मध्य अरब सागर के शेष हिस्सों, पूर्वोत्तर अरब सागर के कुछ हिस्सों, गुजरात राज्य, दादरा और नगर हवेली, महाराष्ट्र के शेष भागों (मुंबई सहित), मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़ व झारखंड के अधिकांश हिस्सों और बिहार के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ा है।
  • मॉनसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) अब अक्षांश 20 ° उत्तर / देशांतर 60 ° पूर्व, अक्षांश 20 ° उत्तर / देशांतर 70 ° पूर्व, सूरत, नंदरबार, बैतूल, सिवनी, पेंड्रा रोड, अंबिकापुर, गया, पटना और अक्षांश 27° उत्तर /देशांतर 85 ° पूर्व से होकर गुजरती है (अनुलग्नक-I)।
  • पिछले 24 घंटों के दौरान वर्षा की मुख्य मात्रा (सेमी में) 14 जून 2020 08:30 बजे आईएसटी (> 5 सेमी) तक प्राप्त हुई:

गुजरात: मधुबन (दादरा और नगर हवेली)-9, अबद शहर (अहमदाबाद) -7, दहेगम (गांधीनगर) -7, नानीपल्सन (वलसाड) -7, गांधीनगर (गांधीनगर) -6, तलोड़ (साबरकांठा)-6, खानवेल ( दादरा और नगर हवेली)-6, कपराडा (वलसाड) -5, मालपुर (अरावली) -5, नखतराणा (कच्छ) – 5 सेमी

महाराष्ट्र: मुंबई (कोलाबा) -1, मुंबई (सांताक्रूज़) -2, पेरनेम (उत्तरी गोवा) -12, मोखेड़ा (पालघर) – 12, माथेरान (रायगढ़) – 8, मालवन (सिंधुदुर्ग) – 7, उल्हासनगर (ठाणे) – 11, अमलनेर (जलगांव) – 6, शाहदा (नंदुरबार) – 7, इगतपुरी (नासिक) – 7, आष्टी (बीड) – 5 और औंधा नागनाथ (हिंगोली) – 7 सेमी

दक्षिण पश्चिम मॉनसून, 14 जून 2020 तक:

पूरे देश के लिए, 14 जून 2020 तक इस वर्ष के दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की  मौसमी संचयी वर्षा, लम्बी अवधि औसत (एलपीए) से 31% अधिक है। यह उत्तर पश्चिम, मध्य और दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के उनके एलपीए से क्रमशः 19%, 94% और 20% अधिक है। भारत के चार व्यापक भौगोलिक क्षेत्रों में वर्षा वितरण का विवरण निम्न है (अनुलग्नक-II):

क्षेत्रवास्तविक वर्षा  (मिमी)सामान्य वर्षा (मिमी)एलपीए से विचलन, % में
पूरे देश में75.857.831%
उत्तर पश्चिमी भारत27.222.819%
मध्य भारत91.046.994%
दक्षिण प्रायद्वीप80.266.920%
पूर्व और पूर्वोत्तर भारत131.8137.4-4%

मौसम विज्ञान संबंधी स्थिति

  • एक कम दबाब का क्षेत्र उत्तर-पश्चिमी राजस्थान से तटीय ओडिशा तक निचले क्षोभमण्डल स्तरों पर मौजूद है।
  • पूर्व-पश्चिम कर्तन (शीर) क्षेत्र, मध्य भारत में अक्षांश 22 ° उत्तर  के साथ समुद्र तल से 3.1 और 4.5 किमी ऊपर मौजूद है।
  • एक चक्रवाती परिसंचरण पूर्व मध्य प्रदेश और आस-पास के क्षेत्रों में मध्य-क्षोभमंडल में स्थित है।

पूर्वानुमान और चेतावनी

  • उपरोक्त प्रणालियों के प्रभाव से, अगले 48 घंटों के दौरान उत्तर अरब सागर, गुजरात व मध्य प्रदेश के कुछ और हिस्सों, छत्तीसगढ़, झारखंड और बिहार के शेष हिस्सों और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में दक्षिण पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं।
  • अगले 4-5 दिनों के दौरान महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य और पूर्व भारत के अधिकांश हिस्सों में व्यापक रूप से वर्षा होने की प्रबल संभावना है तथा अगले 2-3 दिनों के दौरान कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा एवं दक्षिण मध्य प्रदेश, विदर्भ छत्तीसगढ़ और मराठवाड़ा के अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की सम्भावना है।

अधिक जानकारी और पूर्वानुमान अपडेट के लिए कृपया आईएमडी, नई दिल्ली की वेबसाइट देखें:

http://www.imd.gov.in/pages/allindiawxfcbulletin.php

एसजी/एएम/जेके/एसके