MoD employees to contribute one day salary to PM-CARES Fund;

Rs 500 crore contribution expected

Raksha Mantri Shri Rajnath Singh has approved a proposal for the contribution of one day salary by the employees of Ministry of Defence to the PM-CARES Fund to fight Covid-19. It is estimated that around Rs 500 crore will be collectively provided by the Defence Ministry to the fund from various wings, including Army, Navy, Air Force, Defence PSUs and others.

The employees’ contribution is voluntary and those desirous of opting out will be exempted.

ABB/SS/Nampi/KA/DK/Savvy

Hindi

रक्षा मंत्रालय के कर्मचारी पीएम-केयर फंड में एक दिन के वेतन का योगदान देंगे, 500 करोड़ रुपये के योगदान की उम्मीद

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कोविड-19 से लड़ने के लिए पीएम-केयर फंड में रक्षा मंत्रालय के कर्मचारियों के एक दिन के वेतन के योगदान से संबंधित प्रस्ताव को मंजूरी दी है। ऐसी उम्मीद है कि सेना, नौसेना, वायु सेना, रक्षा पीएसयू एवं अन्य सहित विभिन्न विंगों से फंड में रक्षा मंत्रालय द्वारा सामूहिक रूप से लगभग 500 करोड़ रुपये का योगदान दिया जाएगा।

कर्मचारियों का यह योगदान स्वैच्छिक है और जो इसमें शामिल नहीं होना चाहेंगे, उन्हें इससे छूट दी जाएगी।

एएम/एसकेजे

Marathi 

संरक्षण मंत्रालयाचे कर्मचारी पीएम-केअर्स निधीसाठी जमा करणार एक दिवसाचा पगार, 500 कोटींचे योगदान अपेक्षित

नवी दिल्ली 29 मार्च 2020

संरक्षणमंत्री राजनाथसिंग यांनी Covid-19 वर मात करण्यासाठी संरक्षण मंत्रालयाच्या कर्मचाऱ्यांनी एक दिवसाचा पगार पीएम-केअर्स निधीसाठी देण्याच्या प्रस्तावाला मंजूरी दिली आहे. संरक्षण मंत्रालयाचे विविध विभाग जसे सैन्यदल, नौदल, हवाईदल, संरक्षण क्षेत्रातील सार्वजनिक उद्यम यांचे योगदान 500 कोटी रुपयांपर्यंत अपेक्षित आहे.

कर्मचाऱ्यांचे योगदान हे ऐच्छिक असून ज्यांना यात सहभागी व्हायचे नाही त्यांना तशी सूट देण्यात आली आहे.

R.Tidke/S.Thakur/D.Rane

Bengali 

প্রতিরক্ষা মন্ত্রকের কর্মীরা একদিনের বেতন প্রধানমন্ত্রীর ত্রাণ তহবিলে দান করবেন, যার পরিমাণ ৫০০ কোটি টাকা বলে আশা করা হচ্ছে

নতুন দিল্লি, ২৯ মার্চ ২০২০

কোভিড-১৯ মোকাবিলায় প্রধানমন্ত্রীর ত্রাণ তহবিলে, প্রতিরক্ষা মন্ত্রকের কর্মীদের একদিনের বেতন দান করার বিষয়টি অনুমোদন করেছেন প্রতিরক্ষামন্ত্রী রাজনাথ সিং।

প্রতিরক্ষা মন্ত্রক, সামগ্রিকভাবে সেনা, নৌ, বিমানবাহিনী, প্রতিরক্ষা পিএসইউ সহ বিভিন্ন শাখার কর্মীরা এই তহবিলে প্রায় ৫০০ কোটি টাকা ত্রানসাহায্য দেবেন বলে আশা করা হচ্ছে ।

কর্মীদের দান পুরোপুরি স্বেচ্ছাকৃত এবং যারা এর বাইরে থাকতে চান তাদেরকে অব্যাহতি দেওয়া হবে।

CG/TG

Assamese

প্ৰতিৰক্ষা মন্ত্ৰালয়ৰ সকলো কৰ্মচাৰীয়েই এদিনৰ দৰমহা আগবঢ়াব পিএম-কেয়াৰ্ছ পুঁজিলৈ, ৫০০ কোটি টকা অনুদান সংযোজিত হোৱাৰ সম্ভাৱনা

ক’ভিড-১৯ ৰ বিৰুদ্ধে সংগ্ৰাম অব্যাহত ৰাখিবৰ বাবে প্ৰধানমন্ত্ৰী কেয়াৰ্ছ পুঁজিলৈ প্ৰতিৰক্ষা মন্ত্ৰালয়ৰ সকলো কৰ্মচাৰীয়েই এদিনৰ দৰমহা আগবঢ়োৱাৰ সিদ্ধান্তমূলক প্ৰস্তাৱলৈ প্ৰতিৰক্ষা মন্ত্ৰী ৰাজনাথ সিঙে অনুমোদন জনাইছে। প্ৰতিৰক্ষা মন্ত্ৰালয়ৰ অধীনৰ বিভিন্ন শাখা যেনে স্থল সেনা, বায়ু সেনা, নৌ সেনা, প্ৰতিৰক্ষা ক্ষেত্ৰৰ ৰাজহুৱা খণ্ডৰ প্ৰতিষ্ঠানবোৰ আৰু অন্যান্য বিভাগ সামৰি সংগ্ৰহ হ’বলগীয়া পুঁজিৰ পৰিমাণ সামগ্ৰিকভাৱে প্ৰায় ৫০০ কোটি হোৱাৰ সম্ভাৱনা আছে।

অৱশ্যে কৰ্মচাৰীৰ এই অৱদান সম্পূৰ্ণ স্বেচ্ছামূলক আৰু যিসকলে এইক্ষেত্ৰত তেওঁলোকৰ দৰমহাৰ অংশ এৰি দিবলৈ নিবিচাৰে তেওঁলোকক এই সিদ্ধান্তৰ পৰা বাদ দিয়া হ’ব।

ABB/SS/Nampi/KA/DK/Savvy/RD

Punjabi

ਰੱਖਿਆ ਮੰਤਰਾਲੇ ਦੇ ਕਰਮਚਾਰੀ ਪੀਐੱਮ-ਕੇਅਰਸ ਫੰਡ ਵਿੱਚ ਇੱਕ ਦਿਨ ਦੀ ਤਨਖ਼ਾਹ ਦਾ ਯੋਗਦਾਨ ਦੇਣਗੇ; 500 ਕਰੋੜ ਰੁਪਏ ਦੇ ਯੋਗਦਾਨ ਦੀ ਉਮੀਦ

ਰੱਖਿਆ ਮੰਤਰੀ ਸ਼੍ਰੀ ਰਾਜਨਾਥ ਸਿੰਘ ਨੇ ਕੋਵਿਡ-19 ਨਾਲ ਲੜਨ ਲਈ ਪੀਐੱਮ-ਕੇਅਰਸ ਫੰਡ ਵਿੱਚ ਰੱਖਿਆ ਮੰਤਰਾਲੇ ਦੇ ਕਰਮਚਾਰੀਆਂ ਦੀ ਇੱਕ ਦਿਨ ਦੀ ਤਨਖ਼ਾਹ ਦੇ ਯੋਗਦਾਨ ਸਬੰਧੀ ਪ੍ਰਸਤਾਵ ਨੂੰ ਪ੍ਰਵਾਨਗੀ ਦੇ ਦਿੱਤੀ ਹੈ।  ਅਨੁਮਾਨ ਹੈ ਕਿ ਥਲ ਸੈਨਾ, ਵਾਯੂ ਸੈਨਾ, ਜਲ ਸੈਨਾ, ਰੱਖਿਆ ਪਬਲਿਕ ਸੈਕਟਰ ਅਦਾਰਿਆਂ (ਪੀਐੱਸਯੂਜ਼) ਅਤੇ ਹੋਰਾਂ ਸਮੇਤ ਵਿਭਿੰਨ ਵਿੰਗਾਂ ਤੋਂ ਫੰਡ ਵਿੱਚ ਰੱਖਿਆ ਮੰਤਰਾਲੇ ਦੁਆਰਾ ਸਮੂਹਿਕ ਰੂਪ ਵਿੱਚ ਲਗਭਗ 500 ਕਰੋੜ ਰੁਪਏ ਦਾ ਯੋਗਦਾਨ ਦਿੱਤਾ ਜਾਵੇਗਾ।

ਕਰਮਚਾਰੀਆਂ ਦਾ ਇਹ ਯੋਗਦਾਨ ਸਵੈ-ਇੱਛੁਕ ਹੈ ਅਤੇ ਜੋ ਇਸ ਵਿੱਚ ਸ਼ਾਮਲ ਨਹੀਂ ਹੋਣਾ ਚਾਹੁੰਣਗੇ, ਉਨ੍ਹਾਂ ਨੂੰ ਇਸ ਤੋਂ ਛੂਟ ਦਿੱਤੀ ਜਾਵੇਗੀ।

ਏਬੀਬੀ/ਐੱਸਐੱਸ/ਨੈਂਪੀ/ਕੇਏ/ਡੀਕੇ/ਸਾਵੀ

 

Odia

ପିଏମ କେୟାର୍ସ ପାଣ୍ଠିକୁ ଗୋଟିଏ ଦିନର ଦରମା ପ୍ରଦାନ କରିବେ ପ୍ରତିରକ୍ଷା ମନ୍ତ୍ରଣାଳୟର କର୍ମଚାରୀ

କୋଭିଡ19ର ମୁକାବିଲା ଲାଗି ପ୍ରତିରକ୍ଷା ମନ୍ତ୍ରଣାଳୟର କର୍ମଚାରୀ ପିଏମ କେୟାର୍ସ ପାଣ୍ଠିକୁ ଗୋଟିଏ ଦିନର ଦରମା ପ୍ରଦାନ କରିବେ । ଏ ସଂକ୍ରାନ୍ତ  ଏକ ପ୍ରସ୍ତାବକୁ ପ୍ରତିରକ୍ଷା ମନ୍ତ୍ରୀ ଶ୍ରୀ ରଜନାଥ ସିଂହ ଅନୁମୋଦନ କରିଛନ୍ତି । ପ୍ରତିରକ୍ଷା ମନ୍ତ୍ରଣାଳୟର ବିଭିନ୍ନ ଶାଖା ଯେପରିକି ସ୍ଥଳସେନା, ବାୟୁସେନା, ନୌ ସେନା ଓ ବିଭିନ୍ନ ରାଷ୍ଟ୍ରାୟତ୍ତ ଉଦ୍ୟୋଗ ଆଦିରୁ ପ୍ରାୟ 500 କୋଟି ଯୋଗଦାନ ରାଶି ସଂଗ୍ରହ ଆଶା କରାଯାଉଛି ।

 

Tamil

பிரதமரின் நிவாரண நிதிக்கு பாதுகாப்பு அமைச்சக ஊழியர்கள் ஒரு நாள் ஊதியத்தை அளிக்கவுள்ளனர்; பங்களிப்பு ரூ.500 கோடியாக இருக்கும் என எதிர்பார்க்கப்படுகிறது

கொவிட்-19க்கு எதிரான பணிகளுக்கான பிரதமரின் நிவாரண நிதிக்கு (பிஎம்-கேர்ஸ்) பாதுகாப்பு அமைச்சக ஊழியர்கள் தங்களது ஒரு நாள் ஊதியத்தை வழங்கவுள்ளனர். இந்தத் திட்டத்திற்கு பாதுகாப்புத் துறை அமைச்சர் திரு.ராஜ்நாத் சிங் ஒப்புதல் அளித்துள்ளார். இந்த அமைச்சகத்தின் பல்வேறு பிரிவுகளான, இராணுவம், கப்பல் படை, விமானப்படை, பாதுகாப்பு பொதுத்துறை நிறுவனங்கள் ஆகிய அனைத்தும் இணைந்து  பங்களிக்கும் தொகை சுமார் ரூ.500 கோடியாக இருக்கும் என எதிர்பார்க்கப்படுகிறது.

Telugu

కోవిడ్‌పై పోరుకు ర‌క్ష‌ణ శాఖ ఉద్యోగుల ఒక్క‌రోజు వేత‌న‌ విరాళం..- పీఎం-కేర్స్ ఫండ్‌కు దాదాపు రూ.500 కోట్ల సాయమందే అవ‌కాశం

కోవిడ్‌-19 (క‌రోనా వైరెస్‌) వ్యాప్తిని క‌ట్ట‌డి చేసేందుకు గాను మోడీ స‌ర్కారు చేప‌డుతున్న చ‌ర్య‌ల‌కు ర‌క్ష‌ణ శాఖ సిబ్బంది ఆర్థిక తొడ్పాటును అందించ‌నున్నారు. దేశ ర‌క్ష‌ణ శాఖ‌కు చెందిన సిబ్బంది కోవిడ్‌పై పోరుకు త‌మ ఒక్క‌ రోజు వేత‌నాన్ని పీఎం-కేర్స్ ఫండ్‌కు విరాళంగా అందించ‌నున్నారు. ఇందుకు సంబంధించిన ప్ర‌తిపాద‌న‌కు కేంద్ర ర‌క్ష‌ణ శాఖ మంత్రి రాజ్‌నాథ్ సింగ్ ఆదివారం స‌మ్మ‌తి తెలిపారు. దీంతో ర‌క్ష‌ణ శాఖ‌లో భాగంగా ఉండే భార‌త సైన్యం, భార‌త వైమానిక ద‌ళం, భార‌త నావికా ద‌ళ సిబ్బందితో పాటు ప్ర‌భుత్వ రంగంలోని ర‌క్ష‌ణ సంస్థ‌ల ఉద్యోగులు కూడా త‌మ ఒక్క రోజు వేత‌నాన్ని స్వ‌చ్ఛంద విరాళం రూపంలో పీఎం-కేర్స్ ఫండ్‌కు అందించ‌నున్నారు. దీంతో దాదాపు ర‌క్ష‌ణ శాఖ‌లోని వివిధ విభాగాల నుంచి దాదాపు రూ.500 కోట్ల వ‌ర‌కు ఆర్ధిక సాయం పీఎం-కేర్స్ ఫండ్‌కు విరాళంగా అందే అవ‌కాశం ఉంద‌ని అంచ‌నా.

Malayalam

പ്രതിരോധ മന്ത്രാലയ ജീവനക്കാര്‍ ഒരു ദിവസത്തെ വേതനം പി.എം-കെയേര്‍സ് ഫണ്ടിലേക്ക് സംഭാവനചെയ്യും; 500 കോടി രൂപയുടെ സംഭാവന പ്രതീക്ഷിക്കുന്നു

കോവിഡ്-19നെതിരെയുള്ള പോരാട്ടത്തിനുള്ള പി.എംം-കെയേഴ്‌സ് ഫണ്ടിലേക്ക് ഒരുദിവസത്തെ വേതനം സംഭാവനചെയ്യാനുള്ള പ്രതിരോധ മന്ത്രാലയം ജീവനക്കാരുടെ നിര്‍ദ്ദേശത്തിന് പ്രതിരോധമന്ത്രി ശ്രീ രാജ്‌നാഥ് സിംഗ് അംഗീകാരം നല്‍കി. കരസേന, നാവികസേന, വ്യോമസേന, പ്രതിരോധ പൊതുമേഖലാ സ്ഥാപനങ്ങള്‍ മറ്റുള്ളവ എല്ലാം ഉള്‍പ്പെടെ വിവിധ വിഭാഗങ്ങളില്‍ നിന്ന് സംയുക്തമായി 500 കോടി രൂപ നേടാനാകുമെന്നാണ് പ്രതീക്ഷിക്കുന്നത്.

സംഭാവന നല്‍കുന്ന കാര്യത്തില്‍ ജീവനക്കാര്‍ക്ക് സ്വ്േച്ഛപ്രകാരം തീരുമാനമെടുക്കാം, ആരെങ്കിലും ഇതില്‍ നിന്നും പിന്മാറണമെന്ന് ആഗ്രഹിക്കുന്നുവെങ്കില്‍ അവരെ ഒഴിവാക്കും